Home Health HIV Symptoms | क्या है एचआईवी ? | जानिए इसके लक्षण और...

HIV Symptoms | क्या है एचआईवी ? | जानिए इसके लक्षण और उपचार

218
0

HIV Symptoms | क्या है एचआईवी ? | जानिए इसके लक्षण और उपचार | By Fitness Clues

HIV Symptoms: एचआईवी एक वायरस है, जिसे ह्यूमन इम्यूनो डिफिशिएंसी वायरस (Human Immune Deficiency Virus) भी कहते हैं। ये वायरस हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम (Immune System) पर प्रभावित करता है । इससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। ये वायरस (Virus) हमारे इम्यून सिस्टम (Immune System) के वाइट ब्लड सेल (white blood cells) को नष्ट कर देता है, जिसे  T-सहायक कोशिका भी कहते हैं। इन कोशिकाओं (Cells) को CD 4 कोशिकाओं के नाम से भी जाना जाता है। एच आई वायरस (HIV) धीरे-धीरे मानव शरीर के इम्यून सिस्टम  (Immune System) को प्रभावित करता है ।  जिससे लोगों में बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है।

hiv symptoms,symptoms of aids
Hiv symptoms

एचआईवी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें / Some Important Things About HIV

1- एचआईवी के ट्रीटमेंट (HIV Treatment) से लोग स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।
2- शुरुआत में एचआईवी (HIV) का जल्दी ही समाधान किया जा सकता है। इसके लिए एचआईवी टेस्ट (HIV Test) कराना जरूरी होता है।
3- एचआईवी वायरस Sweat, Saliva और Urine के माध्यम से ट्रांसमिटेड नहीं होता है।
4- जो महिलाएं गर्भवती होती हैं। एच आई वायरस (HIV) उनके बच्चों के शरीर में भी प्रवेश कर सकता है।
5- आप इंजेक्शन (Injection) लगवाते समय हमेशा साफ सिरिंज का ही प्रयोग करें।
6- यौन संबंध के दौरान एचआईवी संक्रमण (HIV  Infection) से बचने के लिए कंडोम (Condom) का उपयोग जरूर करना चाहिए।

 कैंसर के इन शुरूआती 10 लक्षणों को भूलकर भी ना करे नजरअंदाज | Cancer Ke Lakshan

क्या है एड्स? / What is AIDS ? 

एड्स (AIDS) का पूरा नाम एक्वायर्ड इम्यूनो डिफिशिएंसी सिंड्रोम (Acquired Immune Deficiency Syndrome) है। एड्स(AIDS), एचआईवी संक्रमण (HIV Infected) की ऊपरी गंभीर स्थिति होती है । जिससे शरीर का इम्यून सिस्टम (Immune System) पूरी तरह से नष्ट हो जात है और आपका शरीर बीमारियों से लड़ने में असफल रहता है। यदि एड्स (AIDS) का उपचार न किया जाए तो इससे मरीज की मृत्यु तक हो सकती है।

hiv symptoms,symptoms of aids

एड्स के बारे में आवश्यक बातें ।

एड्स (AIDS) को आखिरी एचआईवी (HIV) स्टेज के रूप में भी जाना जाता है। यदि एचआईवी के लक्षणों (Symptoms of HIV) को पहचान कर इसका इलाज करवाया जाए तो एड्स (AIDS) का विकास नहीं होगा।

महिलाओं में एचआईवी/एड्स के लक्षण / HIV / AIDS symptoms in Women

1- पहला लक्षण (Early Symptoms) 

तेज बुखार, सर दर्द और थकान महसूस होना।

➤ क्या आप भी गले के इन्फेक्शन से हो चुके है परेशान, तो आज ही करे ये उपाय | Throat Infection

2- संक्रमण (Infection)

एचआईवी वायरस (HIV Virus) धीरे धीरे हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम (Immune System) को प्रभावित करता है। एचआईवी (HIV) से ग्रसित लोगों मे आंखें, किडनी, दिमाग और पाचन तंत्र (Eyes, Kidneys, Mind & Digestive System) भी संक्रमित हो सकता है।

hiv symptoms,symptoms of aids
Hiv symptoms

3- बुखार रहना (Fever)

एचआईवी (HIV) से पीड़ित महिलाओं में लंबे समय तक बुखार रहता है। बुखार 99.8 डिग्री फॉरेनहाइट से 100.8 डिग्री फारेनहाइट तक भी हो सकता है।

4- पीरियड्स में परिवर्तन / Changes in Periods

एचआईवी (HIV) से ग्रसित महिलाओं के पीरियड्स (Peirods) में भी परिवर्तन होने लगते हैं।

➤ Side Effects Of Antibiotics | एंटीबायोटिक दवाओं के सेवन से हो सकती है पेट से संबंधित कई बीमारियां, जाने किससे ज्यादा खतरा

5- यौन संचरित संक्रमण / Sexually Transmitted Infection

एचआईवी (HIV) से यौन संक्रमण का खतरा भी अत्यधिक रहता है, जिनमें मुख्य रूप से शामिल है। 
  • Chlamydia
  • Trichomoniasis
  • Gonorrhea

एचआईवी एड्स के लक्षण / HIV Symptoms

दस्त होना(Diarrhea), मतली और उल्टी होना(Nausea and Vomiting), वजन कम होना(Lose weight), मांसपेशियों (Muscles) में दर्द रहना, जोड़ों में दर्द(Joints Pain), खांसी रहना(Cough), खाना निगलने में परेशानी होना, सांस (Breath)लेने में दिक्कत होना।

➤ Lung Cancer | फेफड़े के कैंसर के इन संकेतो को भूलकर भी ना करे नजरअंदाज, साबित हो सकता है जानलेवा

गर्भवती महिलाओं में एचआईवी / HIV in Pregnant Women

यदि कोई भी महिला गर्भवती है और एचआईवी (HIV) से पीड़ित है,  तो इसका अर्थ ये नहीं है कि आपके बच्चे को एचआईवी (HIV) नहीं हो सकता। गर्भावस्था के समय या बच्चे को जन्म देने के समय तथा स्तनपान (Breast Feed) के समय भी एचआईवी के वायरस (HIV) बच्चे में पहुंच सकते है।

hiv symptoms,symptoms of aids
Hiv symptoms

यदि एचआईवी (HIV) का ठीक प्रकार से इलाज करवाया जाए तो मां और बच्चे को एचआईवी संक्रमण (HIV Infection) से बचाया जा सकता है। गर्भावस्था (Pregnancy) के शुरुआती दिनों में ही एचआईवी (HIV) का इलाज करवाने से एचआईवी ट्रांसमिशन (HIV Transmission) को आसानी से रोका जा सकता है।

➤ Liver Cirrhosis | इन 6 सामान्य लक्षणों से पहचाने लिवर की बीमारी के शुरुआती संकेत, नजरअंदाज करने से लिवर हो सकता है खराब

गर्भवती महिलाओं के लि एचआईवी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल / Pregnant Women, Some Important Questions Related To HIV

1- गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान एचआईवी दवाइयों (HIV Medicine) का लेना ठीक है या नहीं? 

गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान सावधानी बरती जाती है, लेकिन एचआईवी (HIV) के दौरान गर्भावस्था के समय एचआईवी की दवाइयों (HIV Medicine) को लेना सुरक्षित है या नहीं। ये सवाल गर्भावती महिलाओ के मन में जरूर उठता होगा। गर्भावस्था के दौरान एचआईवी की दवाइयों (HIV Medicine) का सेवन करने से कोई हानि नहीं होती और बच्चे के जन्म में भी किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती।

2- डिलीवरी (Delivery) के दौरान भी क्या एचआईवी (HIV) की दवाई लेते रहना चाहिए? 

डिलीवरी (Delivery) के दौरान प्लेसेंटा (Placenta) के जरिए एचआईवी ट्रांसमिशन (HIV Transmission)  से बच्चे तक पहुंचता है। एचआईवी दवाओं (HIV Medicine) के लेते रहने से इसका ट्रांसमिशन रुक जाता है। इसलिए महिलाओं को डिलीवरी (Delivery) के दौरान भी ये दवाइयां लेनी चाहिए।

hiv symptoms,symptoms of aids
Hiv symptoms

3- एचआईवी ट्रांसमिशन (HIV Transmission) को बच्चे तक पहुंचने से रोकने के लिए क्या करना चाहिए ?

एचआईवी से ग्रसित (HIV Infected) गर्भावती महिला को सबसे पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। प्रेग्नेंसी (Pregnancy) के समय महिलाओं को एचआईवी टेस्ट (HIV Test) नियमित अंतराल पर करवाते रहने चाहिए।

प्रेग्नेंसी के दौरान एचआईवी दवाओं (HIV Medicine) के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। एक डॉक्टर के लिए भी इसे मैनेज करना काफी मुश्किल हो जाता है।

बच्चे के जन्म के तुरंत बाद एचआईवी टेस्ट (HIV Test) जरूर कराना चाहिए।

➤ Diabetes Symptoms | ये है डायबिटीज के शुरुआती लक्षण, जानें इलाज के उपाय

एचआईवी/एड्स के उपचार / Treatment of HIV / AIDS

एचआईवी के इलाज (HIV Treatment) करने वाली दवा को Antiretroviral(ARV) कहते हैं। ये दवाएं सदैव दूसरे दवाओं के साथ दी जाती है। इसे कम माइंड थेरेपी कहा जाता है।

कब करवाना चाहिए एचआईवी ट्रीटमेंट / When to do HIV Treatment

जैसे ही एचआईवी वायरस (HIV) की जांच हो जाती है । वैसे ही एचआईवी पीड़ित मरीज (HIV Infected Patient) को अपना ट्रीटमेंट करवाना शुरू कर देना चाहिए। इससे सालों तक आप स्वस्थ रह सकते हैं। यदि इलाज में देरी होगी तो आपका इम्यूनिटी सिस्टम (Immune System) भी प्रभावित होगा।

hiv symptoms,symptoms of aids
Hiv symptoms

क्यों आवश्यक है एचआईवी का इलाज  / Why HIV Treatment is Necessary

एचआईवी का इलाज (HIV Treatment) करवाना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। एचआईवी के इलाज (HIV Treatment) से एचआईवी विकसित नहीं होगा और आप लंबे समय तक स्वस्थ जीवन जिएंगे।

एचआईवी का इलाज (HIV Treatment) ना करवाने पर एड्स (AIDS) जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आ सकते हैं।

 Piles Treatment At Home | इन घरेलू उपायों से करें आप बवासीर की समस्या का इलाज

एचआईवी/एड्स के दुष्परिणाम / The Consequences of HIV / AIDS

इसके कुछ दुष्परिणाम हो सकते हैं। इसके लिए आप अलग से दवाइयां ले सकते हैं।

यह हो सकते हैं साइड इफैक्ट्स / Side Effects

जी मिचलाना, दस्त होना, नींद आने में कठिनाई होना।

यदि HIV Symptoms से सम्बंधित आपका कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपने सवाल कर सकते है । हम जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे ।

धन्यवाद !

➤ HIV/AIDS Sufferers In South Asia Is Highest In India / दक्षिण एशिया में HIV/AIDS पीड़ितों की संख्या सबसे अधिक है भारत में, प्रतिदिन जा सकती है कई जान

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here