Home Health Asthma in Hindi l Jaaniye Asthma ke Karan, Lakshan aur upchar in...

Asthma in Hindi l Jaaniye Asthma ke Karan, Lakshan aur upchar in Hindi

51
1
asthma in hindi,asthma symptoms in hindi
asthma in hindi

Asthma in Hindi: Aaj hum aapko Asthma ke karan, Asthma ke lakshan aur Asthma ke upchar ki poori jaankaari Hindi mein dene waale hai.

अस्थमा (Asthma) श्वास संबंधी एक रोग है, जिसमें मनुष्य को सांस लेने में बहुत ज्यादा कठिनाई होती है। अस्थमा (Asthma) के मरीजों में श्वास नलियों में सूजन आ जाती है l जिस कारण उनका श्वसन सिकुड़ जाता है और मरीजों को सांस लेने में कठिनाई होती है। अस्थमा (Asthma) दो प्रकार के होता हैं- बाहरी और आंतरिक अस्थमा (There are two types os Asthma: External and internal asthma)

asthma in hindi,asthma symptoms in hindi
asthma in hindi

अस्थमा के लक्षण / Symptoms Of Asthma

1- बलगम वाली खांसी (Mucus cough) या सूखी खांसी (Dry cough) का होना।
2- सीने में जकड़न महसूस होना।
3- सांस फूलना (breathlessness) और सांस लेने में परेशानी होना।
4- सांस लेते समय घबराहट होना (Feeling nervous while breathing) l
5- रात और सुबह के समय सांस लेते समय स्थिति गंभीर होना।
6- ठंडी हवा में सांस लेते वक्त स्थिति का और ज्यादा गंभीर हो जाना।
7- व्यायाम (Exercise) और हृदय में जलन (Heartburn) के साथ हालात और बिगड़ जाना।
8- जोर-जोर से सांस लेने के कारण थकान महसूस होना(Feel tired)
9- अस्थमा मरीजों (Asthma Patient) की हालत ज्यादा बिगड़ने पर कई बार उल्टी (Vomiting) होने लगती हैं।

Read also: Flax Seeds In Hindi | अलसी के बीज स्वास्थ के लिए है अमृत के समान, जानिए हैरान कर देने वाले फायदे

अस्थमा के मुख्य कारण / Main Reasons of Asthma in Hindi

1- वायु प्रदूषण / Air pollution
2- सर्दी और फ्लू / cold and flu
3- गलत खान-पान / Bad food
5- एसिड रिफ्लक्स के द्वारा सांस फूलना / Breathing through acid reflux
5- दवाइयों का रिएक्शन / Reactions of Medicines
6- शराब का सेवन / Taking Alcohol
7- तनाव / Stress
8- अत्यधिक व्यायाम / insanity workout
9- मौसम में बदलाव होने के कारण सांस फूलना / Breath due to change in weather
10- अनुवांशिक कारण / Genetic reasons

Read also: सर्दिओ में बढ़ रहे हार्ट अटैक के से इस तरह करे बचाव| How to Avoid Heart Attack

अस्थमा से बचाव / Asthma prevention

अस्थमा के मरीजों की संख्या दुनिया भर में है। अस्थमा (Asthma) की बीमारी से लाखों लोग पीड़ित हैं। ये एक एलर्जी (Alergy) है, जो कि बहुत ही कष्टकारी समस्या है। अस्थमा के मरीजों को बारिश से भी बहुत नुकसान होता है। शारीरिक परिश्रम करने के बाद अस्थमा (Asthma) के मरीजों को काफी थकावट महसूस होने लगती है। अस्थमा के मरीज आइसक्रीम और ठंडी चीजों का सेवन नहीं कर सकते। अस्थमा को सही इलाज, पौष्टिक आहार और बेहतर जीवन शैली के द्वारा आसानी से ठीक किया जा सकता है (Asthma can be cured easily by the right treatment, nutritious diet and better lifestyle)

asthma in hindi,asthma symptoms in hindi
asthma in hindi

इस प्रकार अस्थमा से बचाव कर सकते हैं / Thus can prevent asthma

1- अच्छा आहार के द्वारा / By good diet
2- गर्म पानी का उपयोग करके / Using hot water
3- एलर्जी से बचाव / Allergy prevention
4- तनाव मुक्त रहकर / Staying stress free

Read also: कैंसर के शुरूआती 10 लक्षणों को ना करे नजरअंदाज | Cancer Ke Lakshan

अस्थमा का इलाज  / Treatment Of Asthma

अस्थमा को दवाइयों से ठीक किया जा सकता है। अस्थमा (Asthma) होने के बाद भी मनुष्य एक अच्छी जिंदगी जी सकता है। अस्थमा (Asthma) के उपचार में दो प्रकार की दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। आइए जानते हैं l

asthma in hindi, asthma symptoms in hindi
asthma in hindi

1- स्टेरॉइड और अन्य एंटी-इन्फ्लेमेटरी ड्रग्स / Steroids and other anti-inflammatory drugs

अस्थमा के मरीजों में सूजन और जलन (Swelling and burning) की तकलीफ को कम करने के लिए विशेष रूप से इन्हेल्ड स्टेरॉइड ‘Inhaled steroid’ (नाक के माध्यम से दी जाने वाली एक प्रकार की दवा) का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार की दवाएं अस्थमा (Asthma) के मरीजों के वायु मार्ग में सूजन और बलगम (Swelling and mucus) को कम करती हैं और अस्थमा (Asthma) का प्रभाव भी काफी कम हो जाता है। इन दवाओं के उपयोग से वायु मार्ग संवेदनशील होने लगते हैं, जिससे अस्थमा के लक्षण (Symptoms Of Asthma) कम होने लगते हैं।

Read also: गले के इन्फेक्शन से छुटकारा पाने के लिए करे ये उपाय | Throat Infection

2- ब्रोंकॉड़ायलेटर्स / Broncodilators

ये दवा वायु वर्ग के चारों तरफ कसी हुई मांसपेशियों (Muscles) को आराम देकर अस्थमा (Asthma) की समस्या में राहत दिलाती हैं। यह दो प्रकार के होते हैं l

शॉर्ट ब्रोंकॉड़ायलेटर्स एक्टिंग इन्हेलर / Short Broncillators Acting Inhaler

इसे रेस्क्यू इन्हेलर (Rescue Inhaler) के नाम से भी जानते हैं। इस दवा का उपयोग खांसी, सांस लेने में कठिनाई, छाती में जकड़न, सांस फूलने (Cough, difficulty in breathing, tightness in chest, breath) जैसी समस्याओं में किया जाता है। व्यायाम (Exercise) करने वाले लोगों व्यायाम से पहले और व्यायाम के बाद इस दवा का उपयोग करते हैं।

लॉन्ग-एक्टिंग ब्रोंकॉड़ायलेटर्स / Long-acting bronchodilators

इस दवा का उपयोग इनहेलर एस्टेरॉइड्स और कॉर्टिकोस्टेरॉइड (Inhaler asteroids and corticosteroid) के साथ मिलाकर किया जाता है। इस दवा का उपयोग अस्थमा के लक्षणों (Symptoms Of Asthma) पर नियंत्रण करने के लिए किया जाता है।

Read also: डेंगू बुखार से बचने के 10 अचूक उपाय | Dengue Mosquito Image

3- अस्थमा इनहेलर / Asthma Inhaler

अस्थमा (Asthma) के मरीजों में दवा पहुंचाने का ये एक बहुत ही सामान्य और आसान तरीका है।

asthma symptoms in hindi, asthma symptoms in hindi
asthma symptoms in hindi

अस्थमा से होने वाली अन्य परेशानियां  / Other Asthma Troubles

1- जिसके परिवार में किसी को पहले से अस्थमा की समस्या रही हो, उनकेी संतानों को भी अस्थमा हो सकता है।
2- अस्थमा एलर्जी (Asthma allergy) के कारण भी हो सकता है।
3- वजन बढ़ना भी अस्थमा (Asthma) का एक मुख्य कारण है।
4- जो लोग धूम्रपान (Smoking) करते हैं, उन्हें भी अस्थमा  हो सकता है।
5- धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों के संपर्क में रहने से भी अस्थमा हो सकता है।
6- धुआं और प्रदूषण (Smoke and pollution) के कारण भी अस्थमा (Asthma) जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है।

7- कई खतरनाक चीजें जैसे खेती या फैक्ट्री से निकलने वाले केमिकल के संपर्क में आने से भी अस्थमा (Asthma) की बीमारी हो सकती है।

Read also: Cough Syrup | कफ और बलगम की समस्या को दूर करने के लिए करें ये 5 घरेलू उपाय

अस्थमा के मरीजों को होने वाली जटिलताएं / Complications of asthmatics

1- अस्थमा (Asthma) के मरीजों को काम करने में परेशानी और नींद लेने जैसी गतिविधियों में भी परेशानी होती है।
2- अस्थमा के मरीज स्कूल या काम करते वक्त काफी बीमार महसूस करते हैं।
3- अस्थमा के मरीजों की ब्रोकियल ट्यूबों (Bronchial tubes) में संकुचन स्थिर हो जाता है, जिस कारण सांस लेने में भी समस्या होती है।
4- अस्थमा के लक्षण (Symptoms of Asthma) ज्यादा गंभीर होने पर आपातकाल की स्थिति में मरीजों को अस्पताल में भी भर्ती कराना पड़ सकता है।
5- अस्थमा (Asthma) को नियंत्रित करने के लिए लंबे समय से ली जाने वाली दवाओं के भी दुष्परिणाम झेलनी पड़ सकते हैं।
6- छोटे समय के लिए और लंबे समय के लिए अस्थमा के उपचार में काफी अंतर होता है। यदि अस्थमा (Asthma) की दवाई ठीक प्रकार से ना ली जाए, तो इलाज में भी कई परेशानियां आ सकती हैं।

यदि Asthma से सम्बंधित आपका कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपने सवाल कर सकते है l हम जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे l

धन्यवाद !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here