Home Medicine Ashwagandha: Benefits And Its Side Effects In Hindi

Ashwagandha: Benefits And Its Side Effects In Hindi

853
0

Ashwagandha: Benefits And Its Side Effects In Hindi

Ashwagandha आप सब ने अश्वगंधा के बारे में तो सुना ही होगा। लेकिन आप का ठीक प्रकार से अश्वगंधा का उपयोग करना नहीं जानते होंगे। अश्वगंधा (Ashwagandha) हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक औषधि है। इसे टॉनिक (Tonic) भी कहा जाता है। अश्वगंधा के द्वारा शरीर की शारीरिक क्षमता बढ़ती है और आपका शरीर भी रोगों से दूर रहता है। आयुर्वेद में भी अश्वगंधा  (Ashwagandha) को बहुत ही महत्वपूर्ण औषधि माना गया है।
ashwagandha,ashwagandha benefits
Ashwagandha


अश्वगंधा के फायदे / Benefits Of Ashwagandha

1- थायराइड के लिए फायदेमंद / Beneficial for Thyroid

अश्वगंधा (Ashwagandha) के द्वारा थायराइड ग्रंथि (Thyroid Gland) को उत्तेजित किया जा सकता है। एक शोध के मुताबिक अश्वगंधा (Ashwagandha) की जड़ों के चूर्ण का प्रतिदिन सेवन किया जाए तो थायराइड हार्मोन (Thyroid Hormone) के स्राव में वृद्धि होगी।

2- लंबाई बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के फायदे / Ashwagandha is Beneficial for Increase Height

यदि किसी की लंबाई बढ़ना रुक गई है। तो वे अश्वगंधा (Ashwagandha) के प्रयोग से अपनी लंबाई बढ़ा सकते हैं। आप एक गिलास दूध में दो चम्मच अश्वगंधा का चूर्ण (Ashwagandha Churna) मिलाकर प्रतिदिन रात को सोने से पहले पिए। आपको लाभ होगा।

3- कैंसर के इलाज में अश्वगंधा लाभकारी / Ashwagandha is Beneficial For Treatment Of Cancer

अश्वगंधा (Ashwagandha) में एंटीजनिक गुण मौजूद होते हैं, जो कैंसर कोशिकाओं (Cancer Cells) को नई रक्त वाहिकाओका के निर्माण करने से रोकती हैं । जो कि कैंसर के इलाज में कारगर है। कैंसर की बीमारी में कैंसर सेल्स काफी हद तक जिम्मेदार होते है। अश्वगंधा (Ashwagandha) के सेवन से कैंसर सेल्स (Cancer cells) को रोकने में काफी सहायता मिलती है।

4- तनाव दूर करने के लिए अश्वगंधा के फायदे / Ashwagandha is Beneficial For Relieve Stress

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों को बहुत ज्यादा तनाव (Stress) रहता है। जिस कारण उन्हें नींद भी नहीं आती। अनिद्रा एवं तनाव (Insomnia and Stress) को दूर करने के लिए अश्वगंधा (Ashwagandha) बहुत ही कारगर औषधी है। आप अश्वगंधा के चूर्ण (Ashwagandha Churna) को प्रतिदिन रात को सोने से पहले सेवन करें। आपको अनिद्रा और तनाव (Insomnia and Stress) की परेशानी में लाभ होगा।
ashwagandha,ashwagandha benefits
Ashwagandha

5- सेक्स क्षमता बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के फायदे / Ashwagandha is Beneficial For Sex

जिन पुरुषों में वीर्य और शुक्राणु (Semen and sperm) की कमी हो जाती है। अश्वगंधा (Ashwagandha) के सेवन से वे अपनी सेक्स क्षमता को बढ़ा सकते हैं। इससे पुरुषों में वीर्य (Sperms) तेजी से बढ़ने लगता है। सेक्स के दौरान आप जल्दी थकावट महसूस नहीं करेंगे। अश्वगंधा (Ashwagandha) सेक्स क्षमता बढ़ाने के लिए बहुत ही प्रभावशाली औषधी है।

6- इन्फेक्शन दूर करने के लिए अश्वगंधा है लाभकारी / Ashwagandha is Beneficial For Removing Infections

पुरुषों के साथ-साथ अश्वगंधा (Ashwagandha) का सेवन महिलाओं के लिए भी बहुत ही लाभकारी है। अश्वगंधा की जड़ो (Root) में एंटीबाक्टेरियाल और एंटीफ़ंगल गुण (Antibacterial and antifungal properties) होते हैं, जो इन्फेक्शन (Infections) से लड़ने में भी काफी सहायता करते हैं।
महिलाओं में इन्फेक्शन (Infections) का होना तो आम बात है। जिस कारण उनके पेट में सूजन भी रहती है। उनकी योनि से चिपचिपा पदार्थ निकलता है। अश्वगंधा (Ashwagandha) के सेवन से उन्हें इन सब में लाभ होगा।
ashwagandha,ashwagandha benefits
Ashwagandha

7- मोतियाबिंद से लड़ने में अश्वगंधा है लाभकारी / Ashwagandha is Beneficial For Cataract Fighters

त्यागराजन एक्ट एल शोध के द्वारा पता चला है कि अश्वगंधा (Ashwagandha) के एंटीओक्सीडेंट एवं साइटोप्रोटेक्टिव गुण मोतियाबिंद (cataracts) से लड़ने में बहुत ही कारगर है।

8- बालों की समस्या के लिए लाभकारी है अश्वगंधा / Ashwagandha is Beneficial For Hair Problems

बालों में मेलेनिन (Melanin) की समस्या को अश्वगंधा रोकने में काफी हद तक मदद करता है। इसके साथ ही बालों का असमय सफेद होना भी बंद हो जाता है। अश्वगंधा (Ashwagandha) में मौजूद प्रोटीन (Protein) से आपके बाल मजबूत होते हैं।

9- मधुमेह के इलाज में लाभकारी है अश्वगंधा / Ashwagandha is Beneficial For Treatment Of Diabetes

मधुमेह के इलाज (Treatment For Diabetes) में अश्वगंधा (Ashwagandha) बहुत ही लाभकारी औषधि है। मधुमेह के उपचार में अश्वगंधा के किए गए शोध में अनुसंधान ने सकरात्मक संकेत दिये है। यदि कोई व्यक्ति अश्वगंधा (Ashwagandha) का सेवन तीन से चार हफ्तों तक लगातार करता हैं तो उसे मधुमेह की समस्या में काफी हद तक सुधार देखने को मिल सकता है।

इस प्रकार करें अश्वगंधा का सेवन / Uses Of Ashwagandha

अश्वगंधा (Ashwagandha) एक बहुत ही बढ़िया प्राकृतिक औषधि (Natural Medicine) है। आयुर्वेद (Ayurved) में भी अश्वगंधा (Ashwagandha) का इस्तेमाल किया जाता है। अश्वगंधा (Ashwagandha) के सेवन से हमें कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है। आप बाजार से अश्वगंधा की जड़ या सूखे पाउडर को ले आए या फिर आजकल पतंजलि के अश्वगंधा के कैप्सूल और पाउडर  (Patanjali Ashwagandha Capsule and Powder) बाजार में उपलब्ध है। आप उनका भी उपयोग कर सकते हैं। आप अश्वगंधा को 10 मिनट तक पानी में उबालें और उसकी चाय बना ले। आप प्रतिदिन सोने से पहले पाउडर को गर्म दूध के साथ लें । इससे आपके शरीर में आयरन (Iron) बढ़ने लगेगा। आप दिन में तीन बार 1-1 ग्राम अश्वगंधा के चूर्ण (Ashwagandha Churna) का सेवन कर सकते हैं । आपके शरीर में खून की मात्रा भी बढ़ने लगती है। इसके साथ ही आपकी पाचन शक्ति (Digestive System) मजबूत होती है।
ashwagandha,ashwagandha benefits
Ashwagandha

अश्वगंधा के उपयोग से होने वाले नुकसान / Loss due to use of Ashwagandha

किसी भी चीज के उपयोग करने से पहले उसके नुकसान के बारे में भी आपको जानकारी अवश्य होनी चाहिए। आइए जानते हैं, अश्वगंधा (Ashwagandha) के प्रयोग से होने वाले नुकसानों के बारे में ।
1- अश्वगंधा (Ashwagandha) के ज्यादा सेवन से आपको ज्यादा नींद आने की समस्या हो सकती है।
2- जो लोग अल्सर (Ulcer) की बीमारी से पीड़ित हैं । उन्हें कभी भी अश्वगंधा के चूर्ण (Ashwagandha Churna) का सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए।
3- यदि आपको कोई गंभीर बीमारी है और आप अश्वगंधा का सेवन (Ashwagandha) करते हैं। तो अश्वगंधा के प्रभाव से आपके ऊपर दवाओं का असर नहीं होगा।
4- यदि कोई व्यक्ति अश्वगंधा (Ashwagandha) का सेवन करता है और उसे बुखार आता है। तो उन्हें भी अश्वगंधा (Ashwagandha) का सेवन नहीं करना चाहिए।
5- जो महिलाएं गर्भवती (Pregnant) हैं, उन्हें भी अश्वगंधा (Ashwagandha) का प्रयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।
6- स्तनपान (Breast Feed) कराने वाली महिलाओं को भी अश्वगंधा (Ashwagandha) का सेवन नहीं करना चाहिए।
अश्वगंधा (Ashwagandha) के सेवन करने से पहले आपको एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर लेना चाहिए, जिससे कि आपको भविष्य में कोई भी स्वास्थ्य संबंधी नुकसान ना हो।
यदि Ashwagandha से संबधित आपका कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपने सवाल पूछ सकते है । हम जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे ।
 
धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here