Home Health कैंसर के शुरूआती 10 लक्षणों को ना करे नजरअंदाज | Cancer Ke...

कैंसर के शुरूआती 10 लक्षणों को ना करे नजरअंदाज | Cancer Ke Lakshan

23
0

कैंसर के इन शुरूआती 10 लक्षणों को भूलकर भी ना करे नजरअंदाज | Cancer Ke Lakshan | By  Fitness Clues

Cancer Ke Lakshan: कैंसर की बीमारी एक बहुत ही घातक जानलेवा बीमारी है। कैंसर के शुरुआती लक्षण (Cancer Ke Lakshan)  जान लिया जाए, तो कैंसर को जानलेवा स्टेज तक पहुंचने से आसानी से रोका जा सकता है। जल्द ही कैंसर की पहचान होने पर इसका उपचार भी ठीक प्रकार से हो जाता है और कैंसर से होने वाली मौतें भी आसानी से रोकी जा सकती है। कुछ आंकड़ों के अनुसार पुरुषों में कैंसर से होने वाली मृत्यु में 31% मृत्यु फेफड़ों के कैंसर (Lung Cancer) से, 10% प्रोस्टेट कैंसर (Prostate Cancer) से, 8% कोलोरेक्टल (Cholestrol) से, 6% पैंक्रिएटिक (Pancreatic) वहीं 4% मृत्यु लिवर कैंसर (Liver Cancer) के कारण होती है। कैंसर के शुरुआती लक्षणों (Cancer Ke Lakshan) को नजरअंदाज ना करें और तुरंत ही डॉक्टर से परामर्श लें। आज हम आपको पुरुषों में कैंसर के वक्त होने वाले शुरुआती लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं ।
Cancer Ke Lakshan,cancer in hindi
Cancer Ke Lakshan

1. आंतों में समस्या / Intestinal problem

किसी भी व्यक्ति की आंत में समस्या होना कोई खास बात नहीं है। यदि आप की आंतों में नियमित परेशानी रहती है, तो यह कोलेन (Colon Cancer) या कोलोरेक्‍टल कैंसर (Colorectal cancer) का शुरुआती लक्षण भी हो सकता है। इस लक्षण को डायरिया और अपच की परेशानी दर्शाती है। जिस कारण व्यक्ति के पेट में गैस और पेट दर्द जैसी समस्याएं भी हो सकती है।

2. लगातार खून का बहना / Persistent Bleeding

व्यक्ति के शरीर से लगातार खून का बहना भी कैंसर का एक मुख्य लक्षण (Cancer Ke Lakshan) है। यदि किसी व्यक्ति को कैंसर होने की संभावना है, तो उसका खून मलाशय के द्वारा बाहर निकलने लगता है। यह कोलेन कैंसर का लक्षण (Colon Cancer) हो सकता है। ज्यादातर लोगों में ऐसी समस्या 50 साल की उम्र के बाद होती हैं । लेकिन बदलती जीवनशैली के कारण यह समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है।

3. हो सकता है मूत्राशय में बदलाव / Bladder changes

यदि किसी व्यक्ति को पेशाब करने में परेशानी होती है या पेशाब के दौरान खून की मौजूदगी पाई जाती हैं, तो यह प्रोस्टेट कैंसर (Prostrate Cancer) अथवा डिम्बग्रंथि कैंसर (Ovarian cancer) का लक्षण भी हो सकता है। असंयम मूत्र की समस्या भी कैंसर का एक लक्षण है।

4. टेस्टिकल्स में परिवर्तन / Changes in Testicles

आपको बता दें कि पुरुषों के टेस्टिकल्स में परिवर्तन होता हैं, तो ये टेस्टिकुलर कैंसर (Testicular cancer) का संकेत भी हो सकता है। यदि आपके टेस्टिकल्स (Testicles) का आकार बढ़ रहा है, तो आपको इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। आपको बता दें कि टेस्टिकुलर कैंसर (Testicular cancer) पुरुषों में ज्यादातर 20 से 39 साल की उम्र में हो सकता है।
Cancer Ke Lakshan,cancer in hindi
Cancer Ke Lakshan

5. लगातार पीठ में दर्द होना / Chronic Backache

आजकल की बदलती जीवनशैली में लोगों के ऊपर काम का बोझ और गलत मुद्रा में कुर्सी पर बैठना पीठ दर्द का एक सामान्य कारण हैं। यदि आपके पीठ में लगातार दर्द रहता हैं, तो यह कोलोरेक्‍टल (Colorectal) या प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) का भी संकेत हो सकता है। इसके साथ ही आपके कमर के आसपास की मांसपेशियों में भी दर्द हो सकता है।

6. लगातार वजन का कम होना / Frequent Weight Loss

यदि बिना किसी कारण या बिना एक्सरसाइज के आपका वजन कम हो रहा है, तो यह कैंसर का एक शुरुआती लक्षण (Cancer Ke Lakshan) हो सकता है। यदि आपका वजन 10 पौंड़ से ज्यादा कम हो जाए, तो इसे कैंसर का प्राथमिक लक्षण (Cancer Ke Lakshan) माना जा सकता है।

7. लगातार खांसी की समस्या रहना / Persistent Cough Problem

सर्दी और फ्लू के कारण तथा धूम्रपान के कारण लोगों को खासी की समस्या रहती है। लेकिन बिना किसी कारण के खांसी आए तो यह लंग कैंसर (Lung Cancer) के शुरुआती लक्षण माना जा सकता है। यदि खांसी के साथ खून भी आने लगे तो मामला ज्यादा गंभीर हो सकता है।

8. थकान का रहना / Stay fatigue

यदि किसी व्यक्ति को बिना मेहनत और बिना किसी वजह के ही थकान महसूस हो, तो यह भी कैंसर का एक शुरुआती लक्षण (Cancer Ke Lakshan) है। कैंसर होने पर मरीज बिना किसी वजह के थकावट महसूस करने लगता हैं। कभी-कभी तो वह काम करने लायक भी नहीं रहता। 
Cancer Ke Lakshan,cancer in hindi
Cancer Ke Lakshan

9. लगातार बुखार रहना / Persistent Fever

कैंसर का एक मुख्य लक्षण बुखार भी हो सकता है। जिन व्यक्तियों को कैंसर होता है उनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। जिस कारण उनका शरीर बीमारियों से खुद की रक्षा नहीं कर पाता और लगातार बुखार की शिकायत हो जाती है। बुखार के लक्षण ब्लड कैंसर (Blood Cancer) और ल्यूकीमिया (Lukemia) इत्यादि में साफ नजर आने लगते हैं।

10. त्वचा में परिवर्तन / Changes in Skin

बिना किसी कारण के त्वचा में परिवर्तन होना कैंसर का शुरुआती लक्षण (Cancer Ke Lakshan) भी हो सकता है। त्वचा का सांवली हो जाना या काली पड़ने लगती है। तो इसे भी कैंसर का लक्षण (Cancer Ke Lakshan) माना जाता है। त्वचा का पीला पड़ना भी कैंसर का एक लक्षण (Cancer Ke Lakshan) हो सकता है।
यदि इस पोस्ट से सम्बंधित आपका कोई सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपने सवाल कर सकते है । हम जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे ।



धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here