Home Health Diabetes Mellitus | डायबिटीज Type 1 और Type 2 में है काफी...

Diabetes Mellitus | डायबिटीज Type 1 और Type 2 में है काफी अंतर

142
0

Diabetes Mellitus | डायबिटीज Type 1 और Type 2 में है काफी अंतर, जाने लक्षण और बचाव | By Fitness Clues

Diabetes Mellitus: लोगों की जीवनशैली बदलती जा रही है। आजकल लोग अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं देते हैं l जिस वजह से शरीर में पनप रहे रोगों पर ध्यान नहीं पड़ता । इसी वजह से लोग बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। वर्तमान में मधुमेह (Diabetes), मोटापा, ब्लड प्रेशर जैसी समस्याएं आम हो गई हैं। मधुमेह (Diabetes) का सबसे बड़ा कारण अनियमित जीवनशैली, गलत खान-पान और शारीरिक सक्रियता की कमी है। आपको बता दें कि मधुमेह 2 (Diabetes Type 2) प्रकार का होता है टाइप 1 और टाइप 2। लेकिन दोनों में क्या अंतर है? यह बात बहुत कम लोगों को पता है। चलिए जानते हैं टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes) में अंतर l
Diabetes, diabetes mellitus treatment
Diabetes
टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) में इंसुलिन कम मात्रा में बनता है या फिर बिल्कुल ही नहीं बनता और टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। वहीं टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes) से ग्रसित लोगों का ब्लड शुगर काफी बढ़ जाता है और इसे नियंत्रण में करना काफी ज्यादा मुश्किल है। टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes) में काफी अंतर है। चलिए जानते हैं l

टाइप 1 डायबिटीज / Diabetes Type 1

टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) में पैन्क्रियाज की बीटा कोशिकाएं पूरी तरह से नष्ट हो जाती हैं l जिस वजह से इंसुलिन का बनना बंद हो जाता है। यह जेनेटिक, ऑटोइम्यून एवं कुछ वायरल संक्रमण के कारण होता है। इसी की वजह से बचपन में ही बीटा कोशिकाएं पूरी तरह से खत्म हो जाती है। टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) की समस्या ज्यादातर 12 से 25 साल के लोगों में देखने को मिलती है। स्वीडन और इंग्लैंड जैसे देशों में लोग इससे ज्यादा प्रभावित होते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, भारत में 1 से 2% लोग टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) की चपेट में हैं।

टाइप 2 डायबिटीज / Diabetes Type 2

इस बीमारी से ग्रसित लोगों का ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है l जिसको नियंत्रण में करना काफी कठिन है। टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों को बहुत अधिक प्यास लगती है l इसके अलावा भूख भी कैफ अधिक लगती है । बार-बार पेशाब जाना पड़ता है। इस प्रकार की समस्या किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। इस डायबिटीज में हमारा शरीर इंसुलिन को सही तरीके से प्रयोग नहीं कर पाता।
Diabetes, diabetes mellitus treatment
Diabetes

टाइप 1 किसे होता है

यह समस्या बचपन में किसी को भी किसी भी समय हो सकती है। यहां तक कि अधिक उम्र में भी यह समस्या लोगों के शरीर में नजर आ सकती है। लेकिन टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) ज्यादातर 6 से 18 साल के लोगों में देखने को मिलती है। इसका मतलब यह कहा जा सकता है कि टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) की समस्या बच्चों में ज्यादा देखने को मिलती है। लेकिन भारत में टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) से पीड़ित लोगों की संख्या बहुत कम है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, 1 से 2% लोग ही भारत में इस बीमारी से पीड़ित हैं।

टाइप 2 किसे होता है

जो लोग व्यायाम नहीं करते और बहुत ज्यादा फास्ट फूड खाते हैं । ऐसे लोगो में टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes) की समस्या देखने को मिलती है। 15 साल से कम उम्र के बच्चों में यह समस्या अधिक मात्रा में देखने को मिलती है और पुरुषों के मुकाबले महिलाएं इस बीमारी की चपेट में ज्यादा आती हैं। जिन लोगों का वजन ज्यादा है, वे इस बीमारी से ग्रसित हो सकते हैं। यह समस्या आनुवांशिक कारणों की वजह से भी हो सकती है। जिन लोगों का बीएमआई 32 से ज्यादा है । उनमें यह समस्या होने की संभावना बहुत अधिक है।
Diabetes, Diabetes Mellitus Treatment
Diabetes

टाइप 1 डायबिटीज के लक्षण / Symptoms Of Diabetes

जो लोग टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) से पीड़ित हैं । उनके शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। जिस वजह से मरीजों को बार-बार पेशाब जाना पड़ता है और उनके शरीर से ज्यादा तरल निकलने की वजह से उनको बहुत अधिक प्यास भी लगती है। कभी-कभी टाइप 1 डायबिटीज (Diabetes) के रोगियों के शरीर में पानी की कमी हो जाती है । जिससे मरीजों को काफी थकान महसूस होती है और उनके दिल की धड़कन भी बहुत ज्यादा बढ़ जाती है।

टाइप 2 डायबिटीज के लक्षण / Symptoms Of Diabetes

टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes) से पीड़ित रोगियों को थकान, कम दिखना और सिर दर्द जैसी समस्या हो सकती है। इस बीमारी से पीड़ित रोगियों के शरीर से तरल बहुत अधिक मात्रा में बाहर निकलता है । जिससे उनको प्यास भी बहुत ज्यादा लगती है। ऐसे व्यक्तियों के घाव या चोट आसानी से नहीं भरते। जिन लोगों को टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes) का अधिक प्रभाव है । उनकी आंखों की रोशनी भी कम हो जाती है। ऐसे लोग डायबिटिक रेटिनोपैथी नाम की बीमारी से ही ग्रसित हो सकते हैं । जिससे आपको कम दिखने लगता है।

मधुमेह से बचाव

मधुमेह (Diabetes) से पीड़ित रोगियों को इंसुलिन दिया जाता है। इंसुलिन एक प्रकार का हार्मोन होता है । जो Type-2 मधुमेह (Diabetes) के रोगियों के लिए बहुत आवश्यक है। इंसुलिन के जरिए ही शरीर की रक्त कोशिकाओं को शुगर मिलता है और इंसुलिन द्वारा कोशिकाओं तक पहुंचाई गई शुगर से शरीर को ऊर्जा मिलती है।
तो आज इस पोस्ट में हमने आपको यह जानकारी दी है कि डायबिटीज (Diabetes) कितने प्रकार के होते हैं और डायबिटीज (Diabetes) के कारण, लक्षण (Symptoms) और बचाव (Care) क्या है l
यदि इस पोस्ट से संबंधित आपका अधिक सवाल हो तो कृपया COMMENT  बॉक्स में आप अपने सवाल कर सकते हैं हम जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे |
 
धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here